1 जुलाई, 2022 क्रेडिट और डेबिट कार्ड से जुड़े पेमेंट नियमों पर RBI बढ़ा बदलाव करने जा रहा है

1 जुलाई से सभी बैंको के डेबिट और क्रेडिट पर टोकनाइजेशन सिस्टम लागू हो जाएगा

 टोकनाइजेशन सिस्टम लागू करने का उदेश्यऑनलाइन बैंकिंग पेमेंट से जुड़े फ्रॉड को रोकना है

यदि आप अपने कार को टोकेनाइज  भी करवाते है तो ऑनलाइन स्टोर पर सेव Debit या credit card के Details  को हटा दिया जाएगा

 टोकनाइजेशन के तहत प्रत्येक ट्रांजैक्शन के लिए एक यूनिक अल्टरनेट कोड यानी टोकन जनरेट किया जाता है

यह टोकन ग्राहक की व्यक्तिगत जानकारी की लीक किए बिना पेमेंट करने की अनुमति देगा

अपने कार्ड को टोकनाइजेशन करवाने के बाद ऑनलाइन पेमेंट के समय होंने वाले फ्रौड से बच सकेगे

यदि कोई कार्ड ओनर अपने कार्ड को टोकनाइजेशन नही करवाता है तो उसको ऑनलाइन पेमेंट के समय कार्ड की पूरी जानकरी भरनी होगी

इस पेमेंट सिस्टम को लागु न होने से पहले यूजर्स पेमेंट के समय केवल अपने कार्ड का CVV कार्ड हो डालता था बाकि डिटेल पहले से भरी रहती थी

वैसे तो अपने कार्ड को टोकनाइजेशन करना अनिवार्य नहीं है लेकिन अपने सेफ्टी को जरुर ध्यान में रखे